न्यूटन का गति नियम ! Newton’s Law Of Motion

Spread the love

  • * न्यूटन का गति नियम: बहुत ही के पिता न्यूटन नेशन 1687 ईस्वी में अपनी पुस्तक प्रिंसिपिया में सबसे पहले गति के नियम को प्रतिपादित किया था
  • 1. न्यूटन का प्रथम गति नियम : यदि कोई वस्तु विराम अवस्था में है, तो वह विराम अवस्था में ही रहेगी या यदि वह एक समान चाल से सीधी रेखा में चल रही है तो वैसे ही चलती रहेगी / जब तक कि उस पर कोई बाहरी बल लग कर उसकी वर्तमान अवस्था में परिवर्तन न करें /
  • Note: न्यूटन के प्रथम गति नियम को गैलीलियो का नियम या  जड़त्व  का नियम भी कहते हैं/
  • * Newton’s Law of Motion: The very first father of Newton Nation in 1687 AD, in his book Principia, first proposed the law of motion.
  • 1. Newton’s first law of motion: If an object is in the resting state, it will remain in the resting state or if it is moving in a straight line at the same speed then it will keep moving / as long as there is an external force on it. Do not change its current state /
  • Newton’s first law of motion is also called Galileo’s law or law of inertia.
  • 2. न्यूटन के द्वितीय गति नियम:  किसी वस्तु के संवेग में परिवर्तन की दर उस वस्तु पर आरोपित बल के समानुपाती होता है, तथा संवेग परिवर्तन बल की दिशा में होता है, अब  यदि आरोपित बल F, बल की दिशा में उत्पन्न  तो  तवरण a,  एवं वस्तु का द्रव्यमान m हो, तो न्यूटन के गति के दूसरे नियम से F=Ma,

  • 2. Newton’s Second Law of Motion: The rate of change in momentum of an object is proportional to the force exerted on that object, and the momentum change is in the direction of force, now if the force F is produced in the direction of force, then the temperature a, and If the mass of the object is m, then F = Ma, by Newton’s second law of motion.

  • 3. न्यूटन के  तृतीय गति नियम: प्रत्येक क्रिया के बराबर एवं विपरीत प्रतिक्रिया होती है जैसे बंदूक से गोली चलाने पर चलाने वाले को पीछे की ओर धक्का लगना.

  • 3. Newton’s Third Law of Motion: Every action has an equal and opposite reaction, such as pushing the driver backwards when firing from a gun.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *