पंजाबन बहु – Bedtime Stories | Moral Stories | Hindi Story Time | Funny | Comedy Kahani | New Story

Spread the love

पंजाबन बहु – bedtime stories | moral stories | hindi story time | funny | comedy kahani | New Story

अरे मर गई रे है सच में मर गई इतनी तीखी सब्जी हाय हाय मेरा मुंह सब्जी में इतना मैच कौन डालता है क्या हुआ माऊ सब्जी इतनी तीखी है क्या और नहीं तो क्या अरे नालायक तुमसे कहा है कि इस पंजाबन से शादी मत करियो अरे खाने में कितनी मिर्ची डालती है यह तो वक्त से पहले ही मुझे राम जी के यहां भेज देंगी अरे अभी तो कुछ और साल जीना है मुझे जाओ मेरे लिए पानी लेकर आई हो अच्छा लगता हूं उसी घर में काम कर रहे हैं

डिंपल से अपने सास के बातें सुन लेती है ए मम्मी जी भी ना जब देखो जब बुराइयां करती रहती है मेरी इस घर में इज्जत है कि नहीं अभी जाकर बताते हो डिंपल हाथ में बेलन लिए सीधे शांति के सामने खड़ी हो जाती है अब डांसशो मामी जी क्या कह रही थी/ आप अरे रानी ये क्या है ये तो बेलन लेकर आ गई / अरे तू क्या समझती है इस तरह तुझ से डर जाओगे क्या तू पंजाबन है तो मैं भी दिल्ली की हूं दिल्ली के किसी से नहीं डरती समझी क्या मम्मी जी आप भी ना खाना भी इसी तरह बनाया जाता है वैसे भी हम पंजाबी तो पूरी दुनिया में खाने के लिए जाने जाते हैं

अरे इसका तो फिर से शुरू हो गया इससे कौन बहस करें इसकी अकल तो घुटने में है मैं चली अपने कमरे में यह सब देख कर तो आप लोग तो समझ ही गए होंगे कि शांति की अपने पंजाबन बहु से बिल्कुल नहीं पट्री थी चलिए अब देखते हैं आगे /आज दोनों सास बहू की दर्शन हो गए वरना मैं जब भी अपना घर भुला देते शांति तो हमेशा टाल देती थी अरे ऐसी बात नहीं है मालती तेरे घर आने का समय देख नहीं पाता था तभी मालती सबके लिए खाना लेकर आती है चलो आप शरमाओ नहीं खाना शुरू करो सामने दाल चावल देख डिंपल चीर जाती है मम्मी जी हम लोग इतनी दूर से आए हैं

दाल चावल खाने आए हैं क्या अरे चुप करना दोनों सास बहू को आपस में फुसुर फुसुर करते देख तो आप लोग खाना क्यों नहीं खा रहे हैं अरे आंटी जी हम आपके घर दाल चावल खाने थोड़ी ना आए हैं हमने तो अपने घर में चिकन मंगा रखा है आपकी यह दाल कौन खाएगा मुझे तो नहीं खाना रेनी तुझे दुनिया में कोई और लड़की नहीं मिली थी क्या एक के सामने आया है तू भी समाज में तो ना कटा देती है जाने भी दो मां शुरू से ही मुंहफट है

अरे छोड़ अपना ही सिक्का खोटा है तो क्या दूसरों को क्या कहना अच्छा ला मालती मुझे दाल दे मैं खाऊंगी मालती चीर जाती है अरे अबरहने दे शांति आप दिखाने की कोई जरूरत नहीं है तेरी बहु सही कहती है ए दाल खाने की जरूरत नहीं है अरे जा जा अपने घर जा घर जाकर चिकन खाना चिकन शांति को कोई जवाब देते नहीं बन रहा था हीरो अपनी बहू और बेटे को लेकर वहां से चली जाती है फिर क्या था उस दिन के बाद से शांति अपने बहु को अपने साथ बाहर ले जाने से पहले सौ बार सोचती थी पता नहीं कब किसके सामने क्या कह देगी फिर एक बार शाम के टी वी देख रही होती है

तभी गहने पॉलिश करने वाला एक आदमी घर के सामने आकर आवाज लगाता है एक गहने पॉलिश करवा लो गहने बस 5 मिनट में एकदम नए जैसे कालो बोलो गहने पोलीस वाला अरे मैं कब से मैंने पॉलिश करना आने का सोच रहे थे अच्छा हुआ है पोलीस वाला आ गया अब इतनी दूर कौन सुनार के पास जाता है मैं अपने सारे गहने इसी से पॉलिश करवा लेती हूं शांति पोलीस वाले को अपने घर बुला लेती है और अपने सारे गहने देते हुए कहती है देख सारे गहने को अच्छे से चमकाए अरे फिकर मत करियो मां जी मैंने बिल्कुल नहीं बना दूंगा फिर पोलीस वाला एक-एक करके सारे गहने चमका देता है

यह लीजिए मजे हो गया मुझे मेरे पैसे दे दीजिए मैं चलता हूं पोलीस वाला जैसे वहां तक जाने लगता है तभी डिंपल बाजार से खरीद कर आती है डिंपल मैंने आज हम दोनों के पोलिश करवा लिए देखो कैसे चमक रहे हैं डिंपल जैसे ही पुलिस वाले को देखती है मम्मी जी एक तो चोर है तू तो वही है चंदू चोर है ना क्या चोर क्या कर रही है तू नहीं नहीं दीदी आपको कोई गलत फैमिली हो रही है दीदी के बच्चे चुप कर तू भोले भाले लोगों को ठगता है मेनू अच्छी तरह पता है मम्मी जी एक बार चंडीगढ़ में चोरी करते हुए पकड़ा गया था तू मेरी मम्मी जी को लूटने चलाया था ठहर जा अभी तेरी तलाशी लेती हूं अभी सब पता चल जाएगा

तलाशी लेने के बाद उसकी जेब से शांति की असली के निकलते हैं शांति की आंखें फटी की फटी रह जाती है सब लोग मिलकर के पुलिस के हवाले कर देते हैं डिंपल बेटा तेरे से हमेशा रहती थी लेकिन हमें बहुत बड़े नुकसान से बचा लिया मुझे माफ कर दे बेटा मम्मी जी मेरे होते हुए किसी की तरफ आंख उठाकर भी देख सकें बाकी बहुत हो गई मम्मी जी चलिए आज आपको ना शाही पनीर की सब्जी खिलाते हूं मैं अरे नहीं

मां… सर पर जो हाथ फेरे तो हिम्मत मिल जाए… मां एक बार मुस्कुरा दे तो जन्नत मिल जाए….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *