The Kashmir Files & द कश्मीर फाइल्स : हंगामा है क्यूं बरपा, दर्द की

Spread the love

The Kashmir Files & द कश्मीर फाइल्स : हंगामा है क्यूं बरपा, दर्द की दास्तान ही तो है |

दि कश्मीर फाइल्स’ फिल्म इन दिनों काफी चर्चा में है। ये महज एक फिल्म है तो हंगामा क्यों है बरपा? दरअसल, कश्‍मीरी पंडितों के कश्‍मीर से पलायन और उन पर हिंसा की घटनाओं पर यह फिल्‍म बनी है। ‘दि कश्मीर फाइल्स” 1990 में कश्मीरी पंडितों के दर्द, पीड़ा, संघर्ष और आघात की सच्ची घटना पर आधारित है।

पीएम मोदी ने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के झंडाबरदार ‘दि कश्मीर फाइल्स’ फिल्म के आने के बाद बौखला गए हैं। इन दिनों इस फिल्म की हर ओर चर्चा हो रही है।

कश्मीर फाइल की विवेचना करने की बजाय हो रहा है विवाद

नई दिल्ली स्थित अम्बेडकर भवन में आयोजित भाजपा संसदीय दल की बैठक को संबोधित करने के दौरान प्रधानमंत्री ने ‘दि कश्मीर फाइल्स’ का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की पैरोकारी करने वाले बौखलाए हुए हैं। एक पूरे इकोसिस्टम द्वारा षड्यंत्र चलाया जा रहा है। कश्मीर फाइल की विवेचना करने की बजाय विवाद हो रहा है।

5-6 दिन से इस फिल्म के खिलाफ चल रहा है एक षडयंत्र

उन्होंने आगे कहा कि जो सत्य है उसको सही स्वरूप में देश के सामने लाना, देश की भलाई के लिए होता है। किंतु, कोई सत्य उजागर करने का साहस करे तो उसे समझने और स्वीकारने को लोग तैयार नहीं है । उन्होंने कहा कि पिछले 5-6 दिन से इस फिल्म के खिलाफ एक षडयंत्र चल रहा है।

जो सत्य है उसे सही रूप में लाना देश की भलाई के लिए है

पीएम मोदी ने कहा कि उनका विषय यह फिल्म नहीं है। किंतु, जो सत्य है उसे सही रूप में लाना देश की भलाई के लिए है। इसके कई रूप हो सकते हैं, किसी को पसंद आएगा किसी को नहीं। हैरानी इस बात की है कि जिस सत्य को तथ्यों के आधार पर बाहर लाया जा रहा है, उसको दबाने की पूरी कोशिश हो रही है।

अगर किसी को यह फिल्म पसंद नहीं है तो वह दूसरी फिल्म बना ले

उन्होंने कहा कि अगर किसी को यह फिल्म पसंद नहीं है तो इसमें परेशान होने की क्या बात है, वह दूसरी फिल्म बना ले। उल्लेखनीय है कि कश्मीर फाइल फिल्म कश्मीरी पंडितों के घाटी से निकाले जाने और इस दौरान हुई हिंसा की घटनाओं पर आधारित है। इस फिल्म के निर्देशक और कलाकारों ने हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की थी।

यह एक अच्छी फिल्म है |

वहीं पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड समेत चार राज्यों के विधानसभा चुनाव में जीत के बाद भाजपा संसदीय दल की मंथन बैठक के दौरान भी फिल्म ‘दि कश्मीर फाइल्स’ का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि यह एक अच्छी फिल्म है। सच को सामने लाने के लिए इस तरह की फिल्में बनती रहनी चाहिए।

इस क्रम में मंगलवार को देर रात पीएम मोदी के नेतृत्व में उनके आवास पर बैठक चल रही है। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और अन्य वरिष्ठ नेता तथा संगठन महामंत्री बीएल संतोष मौजूद हैं।

भाजपा संसदीय दल की बैठक में भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा की अगुवाई में पार्टी के सभी सांसदों ने विधानसभा चुनावों में मिली जीत के लिए प्रधानमंत्री का अभिनंदन किया। भाजपा के सभी पूर्व अध्यक्षों, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मोदी और नड्डा को माला पहना कर उनका अभिनंदन किया।

फिल्म को कई राज्यों में किया गया ट्रैक्स फ्री

‘द कश्मीर फाइल्स’को सबसे पहले हरियाणा में टैक्स फ्री किया गया। इसके बाद मध्य प्रदेश, गुजरात, कनार्टक, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, गोवा और त्रिपुरा में भी फिल्म को टैक्स फ्री किया गया। कश्‍मीरी पंडितों के कश्‍मीर से पलायन और उन पर हिंसा की घटनाओं पर यह फिल्‍म बनी है। ”दि कश्मीर फाइल्स” 1990 में कश्मीरी पंडितों के दर्द, पीड़ा, संघर्ष और आघात की सच्ची घटना पर आधारित है।

सच को उजागर करने वाली फिल्म

यही कारण रहा कि पीएम मोदी ने भी भाजपा की एक अहम बैठक में फिल्म की चर्चा की। पीएम मोदी ने ‘द कश्मीर फाइल्स’ को सच को उजागर करने वाली फिल्म बताया। वहीं डायरेक्टर व‍िवेक अग्न‍िहोत्री की फ‍िल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है। ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने पांच दिनों में 59 करोड़ रुपए की कमाई कर ली है। फिल्म में अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती, दर्शन कुमार, पल्लवी जोशी, भाषा सुंबली और चिन्मय मंडलेकर मुख्य भूमिकाओं में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *